25 June 2020

पंच तत्वों का ज्ञानेन्द्रियों से संबंध - The relation of five elements to the senses

पंच तत्वों का ज्ञानेन्द्रियों से संबंध - The relation of five elements to the senses


पंच तत्वों का ज्ञानेन्द्रियों से संबंध



प्रत्येक तत्त्व का किसी न किसी ज्ञानेन्द्रिय से विशेष संबंध होता है। बिना खाली स्थान ध्वनि की तरंगों का प्रवाह नहीं हो सकता, हमारे कान कार्य नहीं कर सकते। अत: कान यानि श्रवण शक्ति, आकाश तत्व से सीधी संबंधित होती है। बिना वायु स्पर्श ज्ञान नहीं हो सकता । स्पर्श ज्ञान हेतु त्वचा का महत्व होता है। अत: स्पर्शेन्द्रिय एवं त्वचा का संबंध वायु तत्व से होता है। दृष्टि और नेत्र का संबंध अग्नि तत्व से होता है। यदि जीभ में शुष्कता आ जाये तो स्वाद की पहचान नहीं होती। अत: जीभ का संबंध जल तत्व से होता है । पृथ्वी अलग-अलग गंध वाले पदार्थों का निर्माण करती है। अतः घाणेन्द्रिय और नाक उससे संबंधित होते हैं।


सबका मंगल हो, सबका कल्याण हो, सभी शांत, प्रसन्न, स्वस्थ एवं रोग मुक्त हों।



No comments: